Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 (PMKSY) : प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना क्या हैं ? Apply Now Fast

Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 : दोस्तों हमारे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने हमारे देश के किसानों की सहायता के लिए इस योजना की शुरुआत की है। इस योजना के अंतर्गत देश के किसानो को अपने खेतो की सिचाई के लिए उपकरणों के लिए सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह सब्सिडी किसानों को उन सभी योजनाओं के लिए भी प्रदान की जाएगी, जिसमें पानी की बचत तथा कम मेहनत के साथ-साथ लागत की भी ठीक से बचत होगी। जिससे किसान अपने खेतों की सिंचाई कर सकेंगे।

Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022
Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022

 

PMKSY न केवल सुगम सिंचाई के लिए स्रोत बनाने पर ध्यान केंद्रित करता है, यधपि “जल संचय” और “जल सिंचन” के माध्यम से सूक्ष्म स्तर पर वर्षा जल का उपयोग करके सुरक्षात्मक सिंचाई का निर्माण भी करता है। “प्रति बूंद-अधिक फसल” उत्पादन करने के लिए सब्सिडी के माध्यम से सूक्ष्म सिंचाई को भी प्रोत्साहित किया जाता है।

आज इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद आपके मन में इस योजना के अंतर्गत कोई संदेह नहीं रहेगा, क्योंकि इस आर्टिकल में हमने बहुत ही सरल और आसान तरीके से इस योजना के बारे में सारी जानकारी दी है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना क्या हैं ?

1 जुलाई, 2015 को “हर खेत को पानी” के आदर्श वाक्य के साथ शुरू किया गया था। प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना (पीएमकेएसवाई) को सिंचाई के साथ -साथ खेती वाले क्षेत्रों की बढ़ोतरी करने, पानी की बर्बादी को कम करने और जल के उपयोग के दक्षता में सुधार करने के लिए लागू किया जा रहा है।
PMKSY न केवल सिंचाई के लिए स्रोत बनाने पर ध्यान देता है, बल्कि “जल संचय” और “जल सिंचन” के माध्यम से सूक्ष्म स्तर पर वर्षा जल को एकत्र करके सुरक्षात्मक सिंचाई का निर्माण करता है। “प्रति बूंद-अधिक फसल” निश्चित करने के लिए सब्सिडी के माध्यम से सूक्ष्म सिंचाई को भी काफी प्रोत्साहित किया जाता है।

PMKSY की निगरानी और निगरानी एक अंतर-मंत्रालयी राष्ट्रीय संचालन समिति (NSC) द्वारा की जाएगी, जिसका गठन संबंधित मंत्रालयों के केंद्रीय मंत्रियों के साथ प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में किया जाएगा। कार्यक्रम के कार्यान्वयन तथा संसाधनों के आवंटन और अंतर-मंत्रालयी समन्वय एवं निगरानी और प्रदर्शन मूल्यांकन तथा प्रशासनिक मुद्दों को संबोधित करने आदि की निगरानी के लिए नीति आयोग के उपाध्यक्ष की अध्यक्षता में एक राष्ट्रीय कार्यकारी समिति (एनईसी) का भी गठन किया जाएगा।

Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022

जैसा कि आप जानते हैं कि पानी कृषि के क्षेत्र में सबसे महत्वपूर्ण चीज है और खाद्य उत्पादन में स्थिरता और आत्मनिर्भरता प्रदान करने में महत्वपूर्ण योगदान देता है। यह सच है कि खाद्यान्न के लिए कृषि सबसे महत्वपूर्ण चीज है और कृषि तभी बेहतर होगी जब सिंचाई ठीक से की जाएगी। खेतों में सिंचाई के लिए पानी की आवश्यकता होती है। अगर फसलों को उचित पानी नहीं मिला तो किसानों के खेत खराब हो जाएंगे।

दोस्तों आप लोग तो जानते ही है की अनाज के लिए कृषि सबसे ज़रुरी है और कृषि तभी बेहतर होगी जब सिंचाई अच्छे से की जाएगी। खेतों में सिंचाई के लिए पानी की अधिक आवश्यकता होती है। अगर फसलों को अच्छे से पानी नहीं मिलेगा तो वह किसानो कि खेतो ख़राब हो जाएगी । इस PMKSY 2022 के तहत किसानों की इस समस्या को दूर किया जाएगा और किसानों को उनकी खेती के लिए पानी की व्यवस्था की जाएगी। योजना के तहत किसानों की यह समस्या दूर की जाएगी और किसानों को उनकी खेती के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा इस योजना के तहत 50000 करोड़ रुपये की राशि निर्धारित की गई है।

Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022 का उद्देश्य:

यदि फसल को उचित मात्रा में पानी नहीं मिलता है तो वह खराब हो जाती है और किसानों को भी काफी नुकसान उठाना पड़ता है। भारत कृषी प्रधान देश है। देश के सभी किसान कृषि पर निर्भर हैं, लेकिन देश के किसानों की जमीन पर खेती की समस्या को देखते हुए सरकार नए कदम उठा रही है.

सूक्ष्म सिंचाई योजना के माध्यम से देश के हर खेत में पानी पहुंचाना है। इस प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना-2021 के माध्यम से जल संसाधनों के इष्टतम उपयोग पर अधिक जोर दिया जा रहा है, ताकि बाद में होने वाले नुकसान और सूखे को रोका जा सके। ऐसा करने से उपलब्ध संसाधनों का कुशल उपयोग होगा और साथ ही किसानों को अधिक उपज प्राप्त होगी।

कृषि सिंचाई योजना की विशेषताएं:

किसानों को लाभ पहुंचाने और उनकी आय बढ़ाने के लिए सरकार द्वारा विभिन्न प्रकार की योजनाएं संचालित की जाती हैं। किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए पीएम कृषि सिंचाई योजना भी शुरू की गई है।

  • इसके अंतर्गत सभी खेतों को सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा।
  • जल स्रोतों जैसे जल संचयन, भूजल विकास आदि का निर्माण करेंगे।
  • यदि किसान द्वारा सिंचाई के उपकरण खरीदे जाते हैं तो उसे भी सब्सिडी दी जाएगी।
  • समय और धन दोनों की बचत होगी।
  • ड्रिप इरिगेशन, स्प्रिंकलर इरिगेशन आदि को भी बढ़ावा दिया जाएगा।
  • यदि फसलों को सही प्रकार की सिंचाई मिले तो उपज में भी वृद्धि होगी।
  • इस योजना का लाभ वे सभी किसान भी ले सकते हैं जिनके पास अपनी खेत और पानी का स्रोत है।
  • वे किसान भी इस योजना का लाभ उठा सकते हैं जो संविदा खेती कर रहे हैं या सहकारी सदस्य हैं।
  • स्वयं सहायता समूहों को भी सिंचाई योजना का लाभ मिल सकता है।
  • इस योजना के तहत सिंचाई उपकरण खरीदने पर सरकार द्वारा 80% से 90% तक अनुदान राशि दी जा रही है।

PMKSY 2022 Highlights

Name Of Scheme Pradhanmantri Krishi Sinchayee Yojana 2022
इनके द्वारा शुरू की गयी PM Narendra Modi
लॉन्च कि तारीक 2015
लाभार्थी देश के किसान
Official Website http://pmksy.gov.in/

अब वर्ष 2026 तक योजना का विस्तार

15 दिसंबर 2021 को प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को केंद्रीय मंत्रिमंडल द्वारा 5 वर्ष तक विस्तृत करके 2026 तक संचालित करने का निर्णय लिया गया है, जिस पर कुल खर्च 93068 करोड़ रुपए आने का अनुमान है। यह निर्णय आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडल समिति की बैठक में लिया गया, जिसके अध्यक्ष प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी थे। इस निर्णय की जानकारी केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर और जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत द्वारा संवाददाताओं को प्रदान की गई। इस योजना के विस्तार से करीबन 22 लाख किसानों को लाभ पहुंचेगा, जिनमे से 2.5 लाख अनुसूचित जाति तथा 2 लाख अनुसूचित जनजाति वर्ग से होंगे।

इस योजना पर 93068 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान है, जिसमें से 37454 करोड़ रुपए की सहायता केंद्र सरकार देगी। इसके अलावा, सीसीईए द्वारा राज्यों को 37454 करोड़ रुपये की केंद्रीय सहायता से 20434.56 करोड़ रुपये और प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2016 के दौरान भारत सरकार द्वारा सिंचाई विकास के लिए लिए गए ऋण को चुकाने के लिए 20434.56 करोड़ रुपये मंजूर किए गए हैं।

प्रधान मंत्री कृषि सिंचाई योजना के तहत बागवानी किसानों को ड्रिप प्लांट लगाने के लिए 70% और सीमांत किसानों को 50% सब्सिडी प्रदान की जाएगी। यह जानकारी उप निदेशक डॉ केएन सिंह ने दी। इसके अलावा छोटे और सीमांत किसानों को फव्वारा संयंत्र की खरीद पर 60% और अन्य किसानों को 50% सब्सिडी प्रदान की जाएगी।इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। राज किसान साथी पोर्टल पर ई मित्र के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।

आवेदन पत्र भरने के लिए Jamabandi, Trace Measurement, Plant Quotation, Soil Water Test Report, Electricity Bill, Aadhar Card आदि होना अनिवार्य है। इस योजना का लाभ पहले आओ पहले पाओ के आधार पर दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत उदयपुर जिले के किसान 15 सितंबर 2021 तक आवेदन कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के अंतर्गत आर्थिक सहायता

आप लोग ये तो जानते ही होंगे कि प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना को केंद्र सरकार द्वारा आरंभ किया गया है और इस योजना को शुरू करने का मुख्य उद्देश्य सिंचाई उपकरण खरीदने पर किसानो को सब्सिडी दिलवाना है, जिससे कि खेतों की सिंचाई के लिए पानी मिल सके। यह योजना किसानों की आय में वृद्धि करने के लिए भी काफी मददगार साबित होगी। इस योजना को देश के विभिन्न जिलों में होने वाली पानी की कमी को ध्यान में रखते हुए शुरू किया गया है, जिससे की फसल की गुणवत्ता को भी और अच्छी की जा सकती है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के माध्यम से सभी खेतों को सरकार द्वारा पानी उपलब्ध कराया जाएगा, जिसके लिए कमान क्षेत्र विकास एवं जल प्रबंधन मंत्रालय द्वारा वित्तीय सहायता प्रदान की जाएगी। इस वित्तीय सहायता से किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध कराई जाएगी जिससे उनके खेतों तक पानी पहुंच सकेगा। अब इस योजना के तहत किसानों को खेती करने के लिए पानी की कमी का सामना नहीं करना पड़ेगा और वो अपनी ज़िन्दगी ख़ुशी के साथ जी पाएंगे।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के अंतर्गत 1706 करोड़ रुपये की मंजूरी

PMKSY 2022 को सरकार ने किसानों की मदद के लिए शुरू किया है। इस योजना के तहत खेतों की सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व में 22 दिसंबर 2020 को वर्चुअल कैबिनेट बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में कैबिनेट ने प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना के लिए 1706 करोड़ रुपये आवंटित किए हैं

इसमें मध्यप्रदेश हिस्से में 682 करोड़ 40 लाख 40 हजार रुपये है। मध्य प्रदेश के जिले मंडला, डिंडोरी, शहडोल, उमरिया और सिंगरौली को इस योजना के अंतर्गत लिया गया है। इन जिलों में बोरवेल बनाए जाएंगे। जिससे किसानों को सिंचाई की सुविधा उपलब्ध हो सके। यह बोरवेल 62135 हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई सुविधा प्रदान करने के लिए बनाया जाएगा।

Pradhanmantri Krishi Sichai Yojana 2022 की पात्रता

  • इस योजना का लाभ लेने हेतु किसानों के पास कृषि योग्य भूमि का होना आवश्यक है।
  • इस योजना का लाभ देश के सभी वर्गों के किसान होंगे।
  • पीएम कृषि सिंचाई योजना के तहत स्वयं सहायता समूहों, ट्रस्टों, सहकारी समितियों, निगमित कंपनियों, उत्पादक किसान समूहों के सदस्यों और अन्य पात्र संस्थानों के सदस्यों को भी लाभ प्रदान किया जाएगा।
  • पीएम कृषि सिंचाई योजना 2022 का लाभ उन संस्थाओं और लाभार्थियों को मिलेगा जो लीज एग्रीमेंट के तहत कम से कम सात साल के लिए उस जमीन पर खेती करते हैं।
  • अगर आप अनुबंध खेती करते है फिर भी आप इस योजना का लाभ उठा सकते है।

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 के दस्तावेज़

  • आवेदक का आधार कार्ड
  • पहचान पत्र
  • किसानो की ज़मीन के कागज़ात
  • जमीन की जमा बंदी (खेत कि नकल)
  • बैंक अकाउंट  पासबुक
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर

प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना 2022 में आवेदन कैसे करे ?

योजना की जानकारी हर एक किसान तक पहुंचाने के लिए सर्कार ने Official Website बनाई गई है, यहां योजना से जुड़ी हर एक जानकारी को विस्तारपूर्वक बताया गया है। पंजीकरण या आवेदन के लिए राज्य की सरकारें अपने-अपने राज्य के कृषि विभाग की वेबसाइट पर ऑनलाइन आवेदन ले सकती हैं। यदि आप योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो आप अपने राज्य के कृषि विभाग की वेबसाइट पर जाकर आवेदन से संबंधित जानकारी प्राप्त कर आवेदन कर सकते है।

Pradhan Mantri Krishi Sinchayee Yojana 2022

एमआईएस रिपोर्ट देखने की प्रक्रिया

डॉक्यूमेंट/प्लान देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको Pradhanmantri Krishi Sichai Yojana की Official Website पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने Home Page open होगा।
  • इसके पश्चात आपको डाक्यूमेंट्स/प्लान के विकल्प पर Click करना होगा।
  • अब सामने एक New Page Open होगा।
  • इस पेज पर आपको अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर Click करना होगा।
  • अब आपकी स्क्रीन पर PDF File खुल कर आएगी।
  • इस File में आप Related Information देख सकते हैं।

Circular Download करने की प्रक्रिया

  • सबसे पहले आपको Pradhanmantri Krishi Sichai Yojana की आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने Home Page open होगा।
  • इसके पश्चात आपको Circular के विकल्प पर Click करना होगा।
  • अब आपकी Screen पर एक List आएगी।
  • आपको सूची में से अपनी आवश्यकतानुसार विकल्प पर Click करना होगा।
  • इसके पश्चात आपकी स्क्रीन पर एक PDF File खुल कर आएगी।
  • यहाँ आपको Download के Option पर Click करना होगा।
  • इस प्रकार आप Circular Download कर सकेंगे।

Contact Details देखने की प्रक्रिया

  • सर्वप्रथम आपको प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना की Official Website पर जाना होगा।
  • अब आपके सामने Home Page open होगा।
  • Home Page पर आपको Contact के Option पर Click करना होगा।
  • अब आपके सामने एक new page open होगा।
  • इस पेज पर आप Contact Details देख सकते हैं।

Contact Information

इस आर्टिकल के जरिये, हमने आपको प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना से संबंधित सभी महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान कर दी है। यदि आपको अभी भी किसी भी प्रकार की समस्या हैं तो आप हेल्पलाइन नंबर पर संपर्क करके या ईमेल लिखकर अपनी समस्या का समाधान पा सकते हैं। हेल्पलाइन नंबर और ईमेल आईडी से संबंधित जानकारी प्राप्त करने के लिए यहां Click करें।

PMKSY Scheme Guidelines  Click Here
PMKSY Operational Guidelines  Click Here
Revised PMKSY Operational Guidelines   Click Here
Official Website http://pmksy.gov.in/

 

Leave a Comment