पीएम स्वामित्व योजना 2022: PM Swamitva Yojana 2022 – प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना क्या है? Apply Now Fast

PM Swamitva Yojana 2022 : नमस्कार दोस्तों , स्वागत हैं आज आपका अपना हिंदी ब्लॉग Pmallyojana.com में | आज मैं इस आर्टिकल के माध्यम से बात करूँगा PM Swamitva Yojana 2022 के बारे में। हर साल हमरे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी द्वारा देश को विकसित और आधुनिक बनाने के लिए कोई न कोई योजना शुरु करते रहते हैं इन्ही में से एक योजना हैं प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना

इस योजना को इस लिए शुरू किया गया है क्यूंकि कई बार ऐसा होता है की कोई और आपकी ज़मीन पर कब्ज़ा करके बैठ जाता हैं जिससे ज़मीन के मालिक को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता हैं । इसीलिए नागरिकों को जमीन का मालिकाना हक़ दिलाने के लिए इस योजना को शुरू किया गया हैं ।

इस योजना के तहत पीएम मोदी ने एक नया ई-ग्राम स्वराज पोर्टल शुरू किया है। इस पोर्टल पर ग्राम समाज से संबंधित सभी समस्याओं की जानकारी भी उपलब्ध होगी जिससे इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी जमीन की जानकारी ऑनलाइन भी देख सकेंगे जिससे उनको काफी सुविधा होगी, इसीलिए पंचायती राज मंत्रालय ने ई-ग्राम स्वराज पोर्टल शुरू किया है जो की एक बहुत ही अहम् कदम हैं ।

PM Swamitva Yojana 2022
PM Swamitva Yojana 2022

PM Swamitva Yojana 2022 क्या है ?

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के तहत उम्मीदवारों की सभी समस्याओं की जानकारी ई-ग्राम स्वराज पोर्टल पर दर्ज की जाएगी और साथ ही आप अपनी ऑनलाइन भूमि से संबंधित सभी जानकारी इस पोर्टल पर देख सकते हैं।

इस योजना के तहत, उम्मीदवारों को उनके पूर्ण स्वामित्व अधिकार प्राप्त होंगे। और प्रधानमंत्री के स्वामित्व कार्ड भी दिए जाएंगे ताकि भ्रष्टाचार और जालसाजी का काम कम हो और जिस व्यक्ति के पास जमीन हो वह इसका हकदार हो। ऐसे में अगर कोई जबरन आपकी जमीन पर मालिकाना हक का दावा करता है तो उसका ब्योरा सरकार को पहले ही मिल जाएगा। पीएम स्वामीत्व योजना के तहत इस बार ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले 100000 लाख उम्मीदवारों को मालिकाना हक देने का फैसला किया गया है ।

PM Swamitwa Yojana 2022 Highlights

योजना का नाम प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना
योजना किसके द्वारा शुरू की गयी है ? प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी
मंत्रालय पंचायती राज मंत्रालय
लांच की तारीख 24 अप्रैल 2020
लाभार्थी देश के नागरिक
इसका उद्देश्य लोगो को जमीन का मालिकाना हक़ प्राप्त करवाना
आधिकारिक वेबसाइट egramswaraj.gov.in

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना सम्पति/स्वामित्व कार्ड

मोदी जी द्वारा वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से संपत्ति कार्ड वितरित करने की घोषणा की गई है, साथ ही पीएम स्वामित्व योजना 2022 के तहत उम्मीदवारों के मोबाइल फोन पर संदेश के तहत एक लिंक भेजा जाएगा, जिसके माध्यम से कार्डधारक अपनी संपत्ति कार्ड/प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। और संबंधित राज्य सरकारें उम्मीदवारों को फिजिकल कार्ड वितरित करेंगी। कार्ड मिलने से आपको अपनी जमीन का मालिकाना हक मिल जाएगा।

ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले भूमिधारक भी बैंक से प्रॉपर्टी कार्ड के जरिए कर्ज ले सकेंगे। इस योजना के माध्यम से सभी लोगों के जमीन का डिजिटल ब्यौरा रखा जायेगा जिससे सरकार और लोगो की काफी सहायता होगी। और योजना के माध्यम से राजस्व विभाग द्वारा भूमि के कागजात का पूरा लेखा-जोखा तैयार किया जाएगा तथा यह डेटा ऑनलाइन पोर्टल से जनरेट किया जाएगा।

स्वामित्व योजना से मिलने वाले लाभ

  • दोस्तों जब किसी सरकारी योजना की शुरुआत की जाती है तो बहुत से लोगो तक उन योजनाओ के बारे में पता नहीं होता हैं लेकिन अब इस PM Swamitva Yojana के जरिये  योजनाओं के बारे में पूरी जानकारी पहुंचाई जाएगी।
  • यह जमीन से संबंधित सभी भ्रष्टाचारों को रोकने में मदद करता है।
  • 2015 में पूरे देश में लगभग 100 ग्राम पंचायतों को डिजिटल से जोड़ा गया था, लेकिन अब 2022 में 125000 तक ग्राम पंचायतें डिजिटल से जुड़कर इंटरनेट का लाभ उठा रही हैं।
  • पीएम स्वामित्व योजना के तहत अब किसी भी उम्मीदवार को अपनी जमीन से जुड़े दस्तावेज के लिए किसी पटवारी के पास जाने की जरूरत नहीं होगी।
  • स्वामित्व योजना के तहत राजस्व विभाग गांवों के भू-अभिलेख एकत्र करेगा।
  • पीएम स्वामीत्व योजना 2022 के तहत अब ग्राम पंचायत में आने वाले सभी किसानों को ऋण की सुविधा प्रदान की जाएगी।
  • स्वामित्व योजना में सभी भूमि का विवरण ड्रोन के माध्यम से प्रदान किया जाएगा।
  • इसके माध्यम से लोगों की संपत्ति का डिजिटल विवरण भी रखा जाएगा।
  • स्वामीत्व योजना के तहत, ग्रामीण क्षेत्रों में भूमि के स्वामित्व अधिकार ग्रामीण नागरिकों को सौंपे जाएंगे।
  • ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले व्यक्ति अपने खेतों के माध्यम से बैंकों से ऋण प्राप्त कर सकते हैं।
  • हमारे देश में महाराष्ट्र, यूपी, उत्तराखंड, मध्य प्रदेश, कर्नाटक और हरियाणा के 6 राज्यों के गांवों में ड्रोन मैपिंग
  • शुरू की गई है और 2024 तक सभी राज्यों में इसे पूरा कर लिया जाएगा।
  • प्रॉपर्टी कार्ड मिलने से जमीन के सारे विवाद खत्म होने की संभावना है।

क्या हैं ड्रोन मैपिंग ?

इसका नाम पहले ई-लोकेशन्स था। इस डिजिटल मैपिंग प्रोग्राम का उद्देश्य लोगों के पते की डिजिटल मैपिंग करना था, जिससे भारत की डाक सेवा ज्यादा सटीक हो और रियल एस्टेट के बारे में पारदर्शिता आए। नए ड्रोन मैपिंग सर्वे में सभी घरों की जियो मैपिंग होती हैं तथा  वास्तविक स्थान को नक्शे पर चिह्नित किया जाता हैं।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना का उद्देश्य क्या है ?

इस योजना का मूल उद्देश्य संपत्ति धारक को उसकी जमीन का मालिकाना हक दिलाना है। कोरोनावायरस संकट के बीच भी पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए देश भर में फैली हजारों ग्राम पंचायतों को संबोधित किया, जिसके बाद PM Swamitva Yojana 2022 की शुरुआत हुई, आपको बता दें कि 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस के रूप में मनाया जाता है।

जमीन के मालिक को अपना हक देने के लिए और जमीन की वजह से आए दिन अलग-अलग घटनाएं सामने आती रहती हैं जिससे  भ्रष्टाचार में बढ़ोतरी होती है, लेकिन इस योजना के आने से इन सभी धोखाधड़ी में कमी आने की उम्मीद है।

दोस्तों प्रथम वर्ष में पीएम स्वामित्व योजना के तहत 10 जिलों का चयन किया गया है, जिनके नाम मुरैना, श्योपुर, सागर, शहडोल, खरगोन, विदिशा, भोपाल, सीहोर, हरदा और डिंडोरी हैं। आने वाले वर्षों में और जिलों का भी चयन किया जाएगा। जिसमें सरकार सर्वे करेगी और सर्वे पूरा होने के बाद ही इसका लाभ ग्रामीणों को मिल पाएगा । इस योजना का मुख्य उद्देश्य ग्रामीण किसानों की भूमि का ऑनलाइन रखरखाव करना, भूमि की मैपिंग करना और इस योजना के माध्यम से उनके सही मालिकों को उनका अधिकार देना तथा साथ ही इससे ग्रामीणों के लिए भूमि के माध्यम से ऋण लेना आसान होगा।

ये भी पढ़ें

स्वामित्व योजना के स्टेकहोल्डर

  • मिनिस्ट्री ऑफ पंचायती राज
  • टेक्नोलॉजी इंप्लीमेंटेशन एजेंसी
  • स्टेट रेवेन्यू डिपार्टमेंट
  • स्टेट पंचायती राज डिपार्टमेंट
  • लोकल डिस्ट्रिक्ट अथॉरिटीज
  • प्रॉपर्टी ओनर
  • ग्राम पंचायत
  • नेशनल इनफॉर्मेटिक्स सेंटर

स्वामित्व योजना का कवरेज

  • इस योजना को अप्रैल 2022 से मार्च 2025 तक चलाया जाएगा।
  • स्वामीत्व योजना का पहला चरण वर्ष 2020-21 में इन राज्यों में चलाया गया जो है – हरियाणा, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, राजस्थान तथा आंध्र प्रदेश।

PM Swamitva Yojana 2022 के कॉम्पोनेंट

  • कंटीन्यूअसली ऑपरेटिंग रेफरेंस स्टेशन नेटवर्क की स्थापना
  • लार्ज स्केल मैपिंग
  • आईसी एक्टिविटी
  • एनहैंसमेंट ऑफ स्पेशल प्लानिंग एप्लीकेशन ग्राम मानचित्र
  • ऑनलाइन मॉनिटरिंग सिस्टम
  • प्रोग्राम मैनेजमेंट यूनिट
  • डॉक्यूमेंटेशन सपोर्ट/वर्कशॉप/एक्स्पोज़र विजिट

स्वामित्व योजना के तहत फंड का वितरण

  • फंड को प्रदान करना एवं ट्रैक करने से जुड़े सभी लेनदेन PFMS के माध्यम से किए जाते हैं।
  • इसमें दिशानिर्देशों को अनुमोदित या संशोधित करने का अधिकार पंचायती राज मंत्रालय के सचिव को है।

PFMS क्या हैं ?

PFMS जिसका पूरा नाम Public Financial Management System है I हिंदी में इसको सार्वजनिक वित्तीय प्रबंधन सेवा कहा जाता है। PFMS एक ऐसा पोर्टल है जिसे केंद्र सरकार तथा वित्त मंत्रालय ( Finance Ministry ) निति आयोग ( Planning Commission ) द्वारा बनाया किया गया है।

PM Swamitva Yojana 2022 स्टैटिसटिक्स

ड्रोन सर्वे 112422
मैप्स हैंडेड ओवर टू स्टेट 80249
पार्सल डिजिटाइज्ड 9989610
मैप्स प्रोवाइडेड फॉर इंक्वायरी 44630
कार्ड्स प्रिपेयर्ड 29267
कार्ड्स डिस्ट्रीब्यूटर 27206
CORS मोन्यूमेंटेशन 529
CORS इंटीग्रेटेड विद कंट्रोल सेंटर 414

PM Swamitva Yojana का सम्पति कार्ड कैसे डाउनलोड करें ?

जो उम्मीदवार अपना संपत्ति कार्ड डाउनलोड करना चाहते हैं वे अपना कार्ड बहुत आसानी से डाउनलोड कर सकते हैं लेकिन केवल वही उम्मीदवार अपना कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं जिनके फोन पर केंद्र सरकार द्वारा संदेश का लिंक भेजा जाएगा। लिंक आने पर ही आप प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं। किसके फोन में होगा ये लिंक, वे अपना प्रॉपर्टी कार्ड कैसे डाउनलोड कर सकते हैं? तो दोस्तों यहां हम कुछ स्टेप्स आपको बता रहे हैं जिसे फॉलो करके आप अपना सम्पति कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

  • जब आपके फोन पर मैसेज भेजा जाता है, तो आपको अपने फोन के इनबॉक्स में जाना होगा।
  • इसके बाद आपको दिए गए लिंक पर क्लिक करना हैं।
  • लिंक पर क्लिक करने के बाद आप अपना प्रॉपर्टी कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।
  • अभी केंद्र सरकार की ओर से इस योजना के तहत पीएम मोदी के बटन दबाने पर देशभर के 1 लाख जमीन मालिकों को एसएमएस भेजा जाएगा। लेकिन कुछ समय बाद राज्य सरकारें खुद उम्मीदवारों के घर जाकर कार्ड बांटेंगी।
  • तो दोस्तों इस प्रकार आप बड़ी आसानी से अपना सम्पति कार्ड डाउनलोड कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लिए आवेदन कैसे करना हैं?

इच्छुक उम्मीदवार जो प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लिए ऑनलाइन आवेदन करना चाहते हैं, वे हमारे द्वारा यहां बताई गई प्रक्रिया का पालन करके आसानी से पीएम स्वामी योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं। पीएम स्वामीत्व योजना 2022 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें? नीचे हमने कुछ स्टेप्स दिए है जिसे फॉलो करके आप आवेदन कर सकते हैं ।

  • दोस्तों सबसे पहले Swamitva Yojana की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना हैं।
  • ऑफिसियल वेबसाइट पर क्लिक करके आप इसके होम पेज पर आ जायेंगे ।
  • जहाँ आपको न्यू रजिस्ट्रेशन के लिंक मिलेगा जिसपर आपको क्लिक करना होगा।
  • उसके बाद, पंजीकरण के लिए आवेदन पत्र आपकी स्क्रीन पर दिखाई देगा। आपको कुछ जानकारी दर्ज करनी होगी जैसे पंजीकरण, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी, नाम और पासवर्ड दर्ज करना होगा, सभी जानकारी करने के बाद आप सबमिट बटन पर क्लिक करें।
  • सबमिट बटन पर क्लिक करने के बाद आपके द्वारा रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर लॉग इन करने का मैसेज आएगा, जिसमें आपका यूजर आईडी और पासवर्ड दिया जाएगा। इनका उपयोग करने के बाद ही आप पोर्टल में लॉग इन कर सकते हैं।

Some Important Links 

Official Website  Click Herekosi study

All Important Document PDF

डाउनलोड kosi study

 

FAQs About PM Swamitva Yojana 2022

स्वामीत्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट क्या है?

egramswaraj.gov.in स्वामित्व योजना की आधिकारिक वेबसाइट है और हमने आपको इस आर्टिकल में इस वेबसाइट का लिंक प्रदान किया है।

सरकार किस माध्यम से जमीन मुहैया कराएगी?

सरकार ड्रोन के जरिए पूरी जमीन का सर्वे करेगी।

स्वामित्व योजना का लाभ किसे मिलेगा?

ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को स्वामित्व योजना से लाभ मिलेगा।

पीएम स्वामित्व योज्ना के तहत देश के कितने जिलों को शामिल किया गया है?

पीएम स्वामित्व योजना में देश के 6 राज्यों को शामिल किया गया है, जो उत्तराखंड, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, हरियाणा और उत्तर प्रदेश हैं।

पीएम स्वामीत्व योजना का उद्देश्य क्या है?

योजना का उद्देश्य जमीन के मालिक को मालिकाना हक देना है, जिसके जरिए कोई भी जबरदस्ती अपनी जमीन पर अधिकार का दावा नहीं कर सकता है। और साथ ही एक और योजना है जिसमें भारत में डिजिटल को बढ़ावा देना और नागरिकों को सभी सुविधाएं ऑनलाइन प्रदान करना है।

स्वामित्व योजना का संचालन किस विभाग के माध्यम से किया जाता हैं ?

स्वामित्व योजना का संचालन पंचायती राज विभाग के माध्यम से किया जाता हैं

ई-ग्राम स्वराज पोर्टल लॉन्च करने का उद्देश्य क्या है?

आप ई-ग्राम स्वराज पोर्टल के माध्यम से अपनी भूमि के विवरण के बारे में सभी जानकारी ऑनलाइन प्राप्त कर सकते हैं।

ओनरशिप स्कीम में प्रॉपर्टी कार्ड कैसे डाउनलोड करें?

हमने अपने लेख के माध्यम से आपके साथ संपत्ति कार्ड डाउनलोड करने की पूरी प्रक्रिया साझा की है, आप दिए गए चरणों का पालन कर सकते हैं। और अपना संपत्ति कार्ड डाउनलोड करें।

एक स्वामित्व योजना क्या है?

स्वामीत्व योजना की शुरुआत हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने की है। इस योजना के तहत देश के सभी राज्य जिसमें पंचायती राज के सभी ग्रामीणों को शामिल किया गया है। जिसमें सभी ग्रामीणों की संपत्ति का ड्रोन के माध्यम से आकलन कर भूमि सर्वेक्षण किया जाएगा। ताकि कोई भी किसी भी गलत तरीके से या कपटपूर्ण तरीके से आपकी जमीन पर जबरन अपने अधिकार का दावा न कर सके। और सरकार की ओर से आपको एक मालिकाना संपत्ति कार्ड भी दिया जाएगा।

अगर मदद की जरुरत पड़े तो पीएम स्वामीत्व योजना के लिए हेल्पलाइन नंबर क्या है?

अगर आपको योजना से संबंधित कोई समस्या है या आपको कोई अन्य जानकारी चाहिए तो इसके लिए पंचायती राज मंत्रालय की ओर से ई-मेल आईडी जारी कर दी गई है। लेकिन अभी तक कोई हेल्पलाइन नंबर जारी नहीं किया गया है। आप अपनी समस्या ईमेल आईडी पर लिखकर भेज सकते हैं।
ई-मेल आईडी- [email protected]

तो आज हमने आपको लेख के माध्यम से बताया है कि आप किस प्रकार से स्वामित्व योजना का लाभ उठा सकते हैं। और इससे जुड़ी और भी जानकारी अपने साथ शेयर करें। अगर आपको योजना से जुड़ी कोई जानकारी चाहिए या कोई समस्या है तो आप नीचे कमेंट सेक्शन में जाकर हमें मैसेज कर सकते हैं। हम जल्द ही आपके प्रश्न का उत्तर देंगे।

Leave a Comment